लघु उद्योग भारती कराएगा स्टोनमार्ट-26, हुआ करार

साल 2026 में होने वाले स्टोन मार्ट का आयोजन अब लघु उद्योग भारती करेगा। इस आयोजन के लिए शुक्रवार को जयपुर में उद्योग मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की मौजूदगी में लघु उद्योग भारती और रीको, उद्योग विभाग के बीच एक एमओयू हुआ।

लघु उद्योग भारती कराएगा स्टोनमार्ट-26, हुआ करार

साल 2026 में होने वाले स्टोन मार्ट का आयोजन अब लघु उद्योग भारती करेगा। अब तक इस आयोजन को फिक्की करवाता रहा है। आगामी स्टोन मार्ट आयोजन के लिए शुक्रवार को जयपुर में उद्योग मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की मौजूदगी में लघु उद्योग भारती और रीको, उद्योग विभाग के बीच एक एमओयू हुआ। इस पर रीको के एमडी नकाते और लघु उद्योग भारती की ओर से हस्ताक्षर किए।

इस अवसर पर उद्योग मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि स्टोन मार्ट में नया अध्याय जुड़ रहा है। लघु उद्योग भारती पार्टनर बन कर सहयोग कर रहा है। लघु उद्योग भारती का ग्राउंड पर न केवल कारीगर, बल्कि उद्यमियों से भी अच्छा संपर्क है। इसी वजह से स्टोन मार्ट के आयोजन का अवसर मिल रहा है। हमारी मातृभूमि के पत्थरों से दुनिया को और भी ज्यादा खूबसूरत बनाया जाएगा। लेकिन, इसमें कारीगरों की महत्वपूर्ण भूमिका है, उन्हें जोड़कर संबल प्रदान करना भी हमारी जिम्मेदारी है।
लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रकाश चंद्र ने कहा कि स्टोन मार्ट 2026 के लिए समझौता हुआ है। राजस्थान में भिन्न भिन्न स्थानों पर कई प्रकार के पत्थर उपलब्ध हैं। आज रोजगार पैदा करने की बड़ी जरूरत है।‌ स्टोन क्षेत्र में काफी श्रमिक अपनी कला का प्रदर्शन देश विदेश में करते रहे हैं। पिंडवाड़ा में 25000 आर्टिजन काम कर रहे हैं। राम मंदिर के लिए भी पत्थर गढ़ाई का काम वहां अच्छी तरह से हुआ है। इसी वजह से राममंदिर का निर्माण जल्दी हो पाया है। आज के वातावरण में जो परिदृश्य बना है उसमें अवसर भी हैं और प्रतियोगिता भी है। हमें अवसरों का लाभ उठाना चाहिए।‌

इस अवसर पर लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष घनश्याम ओझा ने कहा कि राजस्थान में पत्थरों का विपुल भंडार है। सभी मिनरल्स और स्टोन को न केवल भारत बल्कि विदेशों तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे। ताकि राजस्थान के पत्थर उद्योग को और प्रगति मिले। लघु उद्योग भारती इस दिशा में व्यापक प्रयास करेगी। इस अवसर पर राज्यमंत्री के के विश्नोई ने भी अपनी ओर से स्टोन मार्ट के आयोजन में हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया।