ऐप से आवाज बदलकर छात्राओं को बुलाते, करते रेप

सीधी जिले में एक सनसनीखेज मामले में आवाज बदलने वाले मैजिक वॉइस ऐप्स के जरिए गवर्नमेंट कॉलेज में पढ़ने वाली आदिवासी छात्राओं के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया गया।

ऐप से आवाज बदलकर छात्राओं को बुलाते, करते रेप

सीधी जिले में एक सनसनीखेज मामल में आवाज बदलने वाले मैजिक वॉइस ऐप्स के जरिए गवर्नमेंट कॉलेज में पढ़ने वाली आदिवासी छात्राओं के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया गया। आरोपी स्कॉलरशिप दिलाने के नाम पर झांसा देकर लड़कियों को अपने पास बुलाते थे। इस मामले में मुख्य आरोपी बृजेश प्रजापति समेत 4 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बृजेश प्रजापति पेशे से मजदूर है। उसने यूट्यूब से आवाज बदलने वाले ऐप्स के बारे में पता कियाफिर इस एप को मोबाइल में एक्टिवेट करके कॉलेज की छात्राओं को निशाना बनाया

मुख्य आरोपी और उसके दोस्त सीधी के गवर्नमेंट कालेज वॉट्सएप ग्रुप से नंबर निकालते थे। इसके बाद आरोपी इस मैजिक ऐप के जरिए रंजना मैंम बनकर महिला की आवाज में पीड़ित छात्राओं से बात करता। इसके बाद स्कॉलरशिप के लिए आवश्यक कागजात देने के लिए उनको अपने पास बुलाता। फिर उनकोनसान जगह ले जाते थे। किसी को इस बात की भनक न लगे, इसके लिए वह निश्चित स्थान पर लेने के लिए एक युवक को बाइक से भेजते थे। इसके बाद वह घटना को अंजाम देते।

पुलिस के अनुसार ये आरोपी अभी तक 7 छात्राओं को अपना शिकार बन चुके हैं। यह संख्या और भी बढ़ सकती है। अभी दो आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। गिरफ्तार आरोपियों में मुख्य आरोपी बृजेश प्रजापति पिता ददुल्ला प्रजापति (30 साल) निवासी अमरवाह, संदीप पिता वंशगोपाल प्रजापति (21 साल) निवासी मड़वास थाना मझौली, राहुल पिता वंशगोपाल प्रजापति (24 साल) और लवकुश प्रजापति पिता मंगल प्रसाद प्रजापति उम्र 23 वर्ष निवासी मड़वास शामिल हैं। ये सभी मिलकर लड़कियों को अपना शिकार बनाते थे।

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने इस घटना की जांच एसआईटी से कराने के निर्देश दिए हैं। महिला डीएसपी को एसआईटी की कमान सौपी गई हैं। टीम पॉक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई करेगी।